Join WhatsApp GroupJoin Now
Join Telegram GroupJoin Now
Rajiv Gandhi

Rajiv Gandhi : वो बम धमाका जिसमे पूर्व PM Rajiv Gandhi की हुई मौत – जाने उस हादसे की पूरी कहानी

Rajiv Gandhi : वो बम धमाका जिसमे पूर्व PM Rajiv Gandhi की हुई मौत – जाने उस हादसे की पूरी कहानी

आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की पुण्यतिथि है जिसपर उनके बेटे राहुल गाँधी ने भी श्रद्धांजलि अर्पित कर दी है वहीं देश के अलग अलग नेताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित कर दी है हम आपको बताने वाले हैं पूर्व प्रधानमंत्री के साथ हुआ वह हादसा वो बम धमाका जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की मौत हो गई इस हादसे की पूरी जानकारी हम आपको इस आर्टिकल में शेयर करने वाले हैं !

Rajiv Gandhi

लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल फ़िल्म 21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर  में देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की हत्या कर दी ~! जब वह मात्र 40 साल की उम्र में थे तरह इस हादसे कोई बम धमाके को अंजाम दिया गया ! आइए बताते हैं…

Virender Sehwag reviews Ghoomer: ‘मैंने कभी स्पिनर को सम्मान नहीं दिया या कोच की बात नहीं सुनी लेकिन… READ NOW

पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न से नवाजे गए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की आज पूरे देश भर में पुण्यतिथि या जयंती मनाई जा रही है ! पूरा देश उन्हें याद कर रहा है राजीव गाँधी का जन्म 20 अगस्त 1944 को हुआ था 1991 में एक चुनावी रैली में बम धमाके में उनकी हत्या हुई थी पूरा देश शोक डूब गया था ! उनकी हत्या की जिम्मेदारी श्रीलंका के एक अलगाववादी संगठन लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल इलम ने ली थी !

राजीव गाँधी मई 1991 में चुनाव प्रचार में व्यस्त थे 21 मई का वो दिन जिस दिन आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में राजीव गाँधी चुनाव प्रचार कर रहे थे अगला पड़ाव तमिलनाडु का श्रीपेरंबुदूर  था जहाँ पर वो प्रचार करने वाले के लिए जाने वाले थे मद्रास आज की चेन्नई पहुंचने की 2 घंटे बाद राजीव गाँधी को एक कार में बैठाकर ले जाया गया !

इस दौरान वह रास्ते में आने जगह पर रैली करते हुए जा रहे थे ! रात के 10:00 बजे श्रीपेरंबुदूर  चुनावी रैली स्थल पर पहुँच गए थे यह कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया और आपको बता दे वहाँ पर अलग अलग जगह बनाई गई थी जहाँ एक रास्ते से पुरुष जा रहे थे और दूसरे रास्ते से महिलाएं जा रही थी इस रैली में महिला आत्मघाती हमलावर जिसका नाम धनु और उनके साथी सदस्य मौजूद थे !

राजीव गाँधी ने पहले पुरुषों की गैलरी का दौरा किया उनका अभिवादन किया उसके बाद महिलाओं की गैलरी का दौरा करने जाते हैं तब उनके साथ ऐसे इस हादसे को अंजाम दिया जाता है बताया जाता है कि महिला गैलरी का जब वो दौरा कर रहे थे उस समय एक महिला राजीव गाँधी के पास में आती है और उसी वक्त एक पुलिसकर्मी एक प्रोटोकोल के तहत उनको रोकते हैं लेकिन राजीव गाँधी ने कहा की उन्हें आने दो !

ये महिला का नाम बदला हुआ कल्याणी रात के लगभग 10:10 का समय घड़ी में हो रहा था जब ये राजीव गाँधी के पैर छूने के लिए नीचे झुकती हैं तो अपने ड्रेस में से एक आरडीएक्स विस्फोट से भरी बेल्ट से विस्फोट कर देती है राजीव गाँधी को पता नहीं था कि ऐसा कुछ होने वाला है उन्होंने अभिवादन के लिए उनको अपने पास आने दिया जैसे ही उन्होंने आशीर्वाद लेने के बहाने पैर की और झुकी तो अपने ड्रेस के नीचे से आरडीएक्स विस्फोट से भरी बेल्ट का बटन दबा दिया और वहाँ पर एक धमाका हुआ !

इस धमाके में राजीव गाँधी उनका हत्या करने वाली महिला और 14 अन्य लोगों की मौत हो गई ! साथ ही बड़ी संख्या में लोग घायल हो गए राजीव गाँधी देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के पोते और इंदिरा गाँधी और फिरोज गाँधी के सबसे बड़े बेटे थे ! देश के प्रधानमंत्री के पद पर सुशोभित थे लेकिन उन्हें क्या पता था कि जिस चुनावी रैली में जा रहे हैं उनके लिए बड़ा प्लान किया गया है आतंकवादियों द्वारा आत्मघाती हमले में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की हत्या कर दी गई !

Join Telegram GroupJoin Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *